पितरों की आत्मा को शांति पाने का राज! जानिए इस श्राद्ध विधि को

घर पर इन आसान विधि- विधान से कर सकते हैं श्राद्ध कर्म

श्राद्ध तिथि वाले दिन सूर्योदय से पहले उठकर स्नान आदि कर साफ़ वस्त्र धारण करें।

ब्रहाम्ण या कुल के अधिकारी का न्योता देकर बुलाएं

पूर्व दिशा की ओर मुख करके पितरों का मानसिक आह्वान करें।

गाय, कुत्ता और कौआ के लिए भोजन से चार ग्रास निकालें |